Saturday, July 13, 2024
HomeCryptocurrencyडूब गया यह क्रिप्टो एक्सचेंज, एक झटके मे निवेशकों के गायब हजारो...

डूब गया यह क्रिप्टो एक्सचेंज, एक झटके मे निवेशकों के गायब हजारो करोड़

क्रिप्टो बाजार में घोर उथल-पुथल है. Criptocurrency के निवेशक माथा धरे बैठे हैं. उन्हें समझ नहीं आ रहा कि उन पैसों का क्या होगा जो बड़ी शिद्दत से Bitcoin जैसी criptocurrency में लगाए थे. दो-चार दिन पहले आपने खबर सुनी होगी कि Bitcoin के दाम दो साल के निचले स्तर पर चल रहे हैं. इसके पीछे की वजह क्रिप्टो एक्सचेंज FTX को बताया गया. विदेशी मीडिया में उड़ रही खबरों में बताया गया कि FTX एक्सचेंज, बिनेंस एक्सचेंज के हाथों बिक गया है. अब एक नई खबर आई है जो कि क्रिप्टो निवेशकों के लिए बेहद बुरी है. खबर ये है कि FTX एक्सचेंज से निवेशकों के 8054 करोड़ रुपये गायब हो गए हैं.

खबर कुछ यूं है कि दुनिया के बड़े क्रिप्टो एक्सचेंज में शुमार FTX ने खुद को दिवालिया घोषित कर दिया है और इसके कानूनी समाधान के लिए शुक्रवार को अरजी दाखिल कर दी है. दिवालिया होने का सीधा अर्थ है कि इस एक्सचेंज के पास किसी तरह की रकम या पूंजी नहीं बची. ऐसा आरोप है कि इस एक्सचेंज में निवेशकों के करीब 100 करोड़ डॉलर या 8054 करोड़ रुपये गायब हो गए हैं. इसके बाद इस एक्सचेंज ने दिवालिया प्रोसेस के लिए अप्लाई किया है.

बड़ी खबर इस कंपनी का IPO हुआ खारिज , क्या आपने किया था apply, जानिए क्या है नियम , पैसे कैसे मिलेंगे वापिस

डूब गए 8054 करोड़

मीडिया रिपोर्ट्स में इस बात का खुलासा हुआ है कि FTX एक्सचेंज के संस्थापक सैम बैंकमेन ने बिना निवेशकों को बताए एक्सचेंज से लगभग 8054 करोड़ की रकम अपनी ट्रेडिंग कंपनी अलामेडा रिसर्च में ट्रांसफर कर दी. जैसे ही यह खबर मीडिया में आई, क्रिप्टो निवेशकों के होश उड़ गए क्योंकि उनके फंड का एक बड़ा हिस्सा क्रिप्टो एक्सचेंज से गायब बताया जा रहा है. Criptrocureency के साथ एक बड़ा मुद्दा ये है कि यह किसी केंद्रीय बैंक के सिस्टम से रेगुलेट नहीं होता. इसलिए, कोई सरकार या बैंक इस पर नियम के मुताबिक कार्रवाई नहीं करेगी. फंड गायब होने की सूचना मिलने के बाद दुनिया भर के निवेशकों में बेचैनी है. दूसरी ओर, Bitcoin और इथीरियम जैसी बड़ी क्रिप्टोकरंसी के दाम में भारी गिरावट देखने को मिल रही है.

बिक गया है FTX

एफटीएक्स एक्सचेंज से निवेशकों की कितनी रकम गायब है, इस बारे में अलग-अलग सूचना आ रही है. कुछ का दावा है कि 1.7 अरब डॉलर या 13600 करोड़ रुपये के आसपास डूब गए हैं. जबकि कुछ निवेशक यह राशि 100 करोड़ डॉलर से 200 करोड़ डॉलर के आसपास बता रहे हैं. CoinDesk ने सबसे पहले इस बात की जानकारी दी थी कि बिनेंस बहुत जल्द FTX एक्सचेंज को खरीद सकता है. इस खबर के सामने आते ही Bitcoin जैसी Criptrocurrency में तेज बिकवाली देखी गई और दाम गिरते चले गए. FTX से फंड गायब होने की खबर ‘रॉयटर्स’ ने भी दी है. यह जानकारी सूत्रों के हवाले से दी गई है.

हैकिंग या साजिश

‘रॉयटर्स’ की रिपोर्ट में कहा गया है कि FTX के संस्थापक ने चुपके से 10 अरब डॉलर की रकम को अपनी ट्रेडिंग कंपनी अलामेडा रिसर्च में ट्रांसफर कर दी है. हालांकि FTX ने इस खबर पर कुछ दूसरा ही तर्क दिया है. FTX ने अपने टेलीग्राम चैनल पर लिखा है कि उसके क्रिप्टो प्लेटफॉर्म को हैक कर लिया गया है. मैसेज में लिखा गया है कि 600 मिलियन फंड की गड़बड़ी हुई है जिसका ट्रांसफर कर लिया गया है. निवेशकों को इस बात पर शंका इसलिए हो रही है क्योंकि हैकिंग और ट्रांसफर की बात उस दिन सामने आई जिस दिन FTX ने दिवालियापन के लिए अरजी लगाई. हैकिंग के बाद जिस रकम का ट्रांसफर हुआ है, उसे FTX आधिकारिक तौर पर मानने को तैयार नहीं है.

किसने की खातों की हैकिंग

‘PTI-भाषा’ की एक रिपोर्ट में कहा गया है, महज दो हफ्ते पहले तक FTX दुनिया का सबसे बड़ा क्रिप्टोकरंसी एक्सचेंज था. लेकिन कुछ दिनों में ही इसकी संपत्ति में भारी गिरावट आई और शुक्रवार को इसके संस्थापक और सीईओ सैम बैंकमेन-फ्राइड ने इस्तीफा दे दिया. इसके साथ ही एक्सचेंज ने दिवाला प्रक्रिया से बचने की अर्जी भी लगा दी है. इसने अपनी संपत्तियों का मूल्य 10 अरब डॉलर से लेकर 50 अरब डॉलर तक लगाया है. इस बारे में सोशल मीडिया पर ऐसी चर्चाएं तेज हो गई हैं कि कहीं FTX के खातों की हैकिंग तो नहीं हो गई थी. इसके अलावा किसी भीतरी शख्स के ही इस गड़बड़ी में शामिल होने की भी आशंका जताई जा रही है

Spread the love
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments