Thursday, April 18, 2024
HomeMutual Fundmutual fund kya hai in hindi, types of mutual fund

mutual fund kya hai in hindi, types of mutual fund

mutual fund kya hai यह कैसे काम करता है mutual fund कितने प्रकार के होते है यह सब आप यहां हिंदी में आसान भाषा में जानिए। fund में invest करने के बाद पैसा कहा जाता है। debt, equity, balanced fund क्या होते है mutual fund kyu सही है जानिए यहां mutual fund kya hai kaise kam karta hai।

Mutual Fund Kya hai

सबसे पहले समझते है की mutual fund क्या है जैसा की नाम से ही पता चल रहा है की यह एक fund है। यानी की बहुत सारी कंपनी अपना पैसा invest करती है। एक fund में जो एक कम्पनी मैनेज करती है अब इसको उदाहरण के लिए में हजार रूपये इन्वेस्ट कर रहा हु, कोई 5 हज़ार इन्वेस्ट कर रहा है कोई 10 हज़ार कर रहा है, ऐसे मिलके एक mutual fund में एक fund collect होता है, जिसको हम बोलते है pool of money . अब इस money को mutual fund कंपनी अलग अलग कम्पनी में इन्वेस्ट करती है और investors से उसको return generate करके देता है।

mutual fund kya hai kaise kam karta hai अगर आसान भाषा में बोले तो आपका पैसा कोई और invest करता है और आपको return बनाकर दे रहा है। समय के साथ साथ जब भी return आते है यानि की profit होता है तो उसमे से कम्पनी अपनी fees यानी की 2 या 3 प्रतिशत फीस mutual fund कम्पनी रख लेती है और आपके पास पूरा profit transfer कर दिया जाता है और यानी वो profit सभी investors में बराबर बाँट दिया जाता है अपनी अपनी investment के हिसाब से। तो आप समझ गए होंगे mutual fund क्या होते है और mutual fund कैसे काम करते है।

Types of mutual fund

mutual fund मुख्यतः प्रकार के होते है

1. Equity fund –

आपको बता दे की equity fund को equity share में invest किये जाते है और यह high risk वाले होते है यानी की इसमें रिस्क ज्यादा होता है लेकिन आपको बता दें की जहा रिस्क ज्यादा होता है वहां फायदा profit भी ज्यादा होता है।

2. Debt fund –

इस प्रकार के fund में risk कम होती है यहां पर आपको प्रॉफिट भी उसी हिसाब से equity fund की अपेछा कम होता है।

3. Balanced fund –

इस प्रकार के फण्ड में आपके पैसे का कुछ हिस्सा equity fund में लगाया जाता है और कुछ हिस्सा debt fund में लगाया जाता है। जिस से की loss और profit को balanced किया जाता है, ताकि risk भी कम रहे और प्रॉफिट भी ठीकठाक मिल जाये।

अगर आप balanced fund में invest कर रहे है तो इसमें भी 2 प्रकार के fund होते है

1 open ended fund –

open ended fund में आप invest करना चाहते है तो इसमें invest किसी भी समय और किसी भी समय इन्हे बेच सकते है या sip बंद कर सकते है। अगर आपको लगता है की आपको पेसो की कभी भी जरुरत आ सकती है तो आप इस तरह यानि की open ended fund को चुन सकते है। आपको profit न होने पर भी आप अपना पैसा बापिस ले सकते है।

2. closed-ended mutual fund –

closed ended fund fixed deposite की तरह होते है यानि की इन्हे इनके muturity के समय तक रखने ही पढ़ते है आप इन्हे बीच में नहीं बेच सकते।

यह भी पढ़ें best mutual fund sip in india 2021, best 5 mutual fund

Mutual Fund में ध्यान रखने योग्य बातें

जिनको mutual fund में ज्यादा knowledge उन्हें हम बता दे की आप invest करने से पहले अपनी कम्पनी के सभी term and condition अच्छे से पढ़ लीजिए। और आप अपनी कम्पनी से पूछ सकते है की जिस भी फण्ड में आप invest कर रहे है उस fund का goal क्या है , यानि की उस fund में long term investment करना अच्छा रहेगा या शार्ट टर्म। आपको investment करने से पहले उस fund का risk factor भी जान लेना जरुरी है। इसके लिए आप fund की हिस्ट्री भी चेक कर सकते है, पिछला रिकॉर्ड चेक कर सकते है यानि की past में कितनी ग्रोथ हुई है और जिन्होंने investment की है उन्हें कितना profit हुआ है।

Spread the love
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments