Thursday, April 18, 2024
Homemarket newsबड़ी खबर: तो इन 3 वजहों से टूट रहा भारतीय शेयर बाजार...

बड़ी खबर: तो इन 3 वजहों से टूट रहा भारतीय शेयर बाजार जाने पूरी खबर

अमेरिका में मंदी की आशंका और चीन में कोविड-19 (COVID 19) के मामलों में बढ़ोतरी के चलते मंगलवार, 20 दिसंबर को भी भारतीय शेयर बाजार में गिरावट बनी हुई है। दोपहर 12 बजे sensex 640 अंक यानी 1% से ज्यादा की गिरावट के साथ 61,164 पर और Nifty 200 अंक यानी 1.1% कमजोर होकर 18,220 के आसपास बना हुआ है। ऑटो, एफएमसीजी, आईटी, मेटल और रियल्टी की अगुआई में सभी सेक्टर इंडेक्स में लाल निशान में कारोबार हो रहा है। बीएसई मिडकैप (BSE midcap) और स्मॉलकैप इंडेक्स भी लगभग आधा फीसदी कमजोर होकर कारोबार कर रहे हैं।

मेहता इक्विटीज के रिसर्च एनालिस्ट, सीनियर वीपी (रिसर्च) प्रशांत तापसे का मानना है कि बाजार में इंट्राडे ट्रेड में उतार-चढ़ाव बना रह सकता है। उन्होंने कहा, इनवेस्टर्स को फेडरल रिजर्व (Federal Reserve) के आक्रामक रुख से चिंता है, जिससे दुनिया की सबसे बड़ी इकोनॉमी मंदी में फंस सकती है। हालांकि, इनवेस्टर्स को आरबीआई की मॉनेट्री पॉलिसी मीटिंग के मिनट्स पर नजर रखनी चाहिए, जो बुधवार को जारी होंगे। इससे ट्रेडर्स को ब्याज दरों, महंगाई और इकोनॉमी को लेकर अहम संकेत मिलेंगे। बाजार में इन तीन वजहों से है गिरावट…

1.ग्लोबल मार्केट्स में कमजोरी

नैस्डैक (Nasdaq) की अगुआई में Wall Street में लगातार चौथे सेशन में गिरावट रही। डाउ जोन्स इंडस्ट्रियल एवरेज (Dow Jones Industrial Average) 162.92 अंक यानी 0.49% टूटकर 32,757.54 पर, एसएंडपी500 34.7 अंक यानी 0.90% गिरकर 3,817.66 पर और नैस्डैक कम्पोजिट (Nasdaq Composite) 159 अंक यानी 1.49 % गिरकर 10,546 पर बंद हुआ। इसके अलावा, जापान, हॉन्गकॉन्ग और ताईवान के मार्केट्स में भी बड़ी गिरावट रही।

Multibagger : सर्फ 2 साल में दिया 11,000% का रिटर्न, 1 लाख को बना दिया 1.1 करोड़

2.अमेरिका में मंदी की आशंका से डरे इनवेस्टर

इनवेस्टर्स को चिंता है कि Federal Reserve की सख्ती से अमेरिकी अर्थव्यवस्था मंदी में फंस सकती है। फेड के चेयर Jerome Powell ने उम्मीद से ज्यादा सख्त रुख जाहिर किया है। पॉवेल ने इकोनॉमी में कमजोरी के संकेतों के बावजूद बढ़ोतरी का वादा किया है।

3.Bank of Japan ने ब्याज दरों में बढ़ोतरी को दी मंजूरी

Bank of Japan (BOJ) के दीर्घ कालिक ब्याज दरों में बढ़ोतरी पर एनालिस्ट्स ने कहा कि जापान संभवतः लंबी अवधि की यील्ड को काबू में करने की कोशिश कर रहा है। साल की अपनी आखिरी मीटिंग में BOJ ने कहा कि उसका यील्ड कर्व कंट्रोल (YCC) टारगेट शॉर्ट टर्म के लिए ब्याज दर -0.1% और 10 साल की बॉन्ड यील्ड पर लगभग जीरो बनी रहेगी। बड़ी बात यह है कि उसने 10 साल की बॉन्ड यील्ड को 0% टारगेट से 50 बेसिस प्वाइंट्स ऊपर और नीचे करने को मंजूरी देने का फैसला किया है, जो पहले 25 बेसिस प्वाइंट्स थी।

सिर्फ 1.89 लाख रुपये की कीमत मे Maruti ने लांच की सबसे ज्यादा माइलेज देने वाली कार, जाने पूरी detail

क्या कहते हैं एक्सपर्ट

जिओजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के चीफ मार्केटिंग स्ट्रैटजिस्ट आनंद जेम्स ने कहा, 18,360-320 की रेंज में कंसोलिडेशन दिखता है। अभी हमारी 17,900 के स्तर पर नजर है और इसके लिए 18,270 के नीचे जाने का इंतजार करेंगे। तब तक, हमें बाजार 18,520-670 या इससे ऊपर 18,800 पर जाता दिखता है।

Spread the love
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments